हमारा देष विविधताओं से भरा हुआ है, प्रकृति से भरा हुआ है, प्रकृति ने भी हमारे देष को हर तरह से समृद्द किया है , बल्कि अगर हम कहें कि केवल प्राकृतिक ही नही अपनी संस्कृति और परम्पराओं में भी हमारा देष बहुत समृद्द है तो यह गलत नही होगा। देष के एक हिस्से से दूसरे में जाते ही खान-पान, रीति रिवाज, परम्पराओं, बोलियों और परिधानों की विविधता हमें देखने को मिलती है। पर इतनी विविधताओं से भरे होने के बावजूद एकता हम सभी भारतीयों की रगों में दौड़ती रहती है जो हम सबको एक सूत्र में पिरोये रखती है, हमें अपनी संस्कृति और परम्पराओं से बहुत प्रेम है, और हमें प्रेम है यहाँ कि विविधताओं के बिखरे रंगों की छटा से जो हमें यह अहसास कराती है कि अनेक होते हुए भी हम सब एक हैं।

कला और सौन्दर्य यहाँ कदम- कदम पर बिखरा पड़ा है, बात चाहें कपड़ों की हो या पारम्परिक आभूषणों की या हस्तषिल्प की विविधताओं के जितने रंग हम भारतीयों के पास हैं वो विष्व के किसी देष में एक साथ देखनें को नही मिलते।


विविधताओं के इन्ही रंगों को अपने में समेंटे हर भारतीय प्रेम के इन्ही रंगों में सराबोर है। पारम्परिक परिधानों, आभूषणों और हस्तषिल्प उत्पादों के प्रति हम भारतीयों के प्रेम को देखतें हुए श्। ळसवतल श् आपके लिये लेकर आया है विभिन्न पारम्परिक परिधाना और आभूषण तथा हस्तनिर्मित विविध उत्पादों की एक उत्कृष्ट और विष्वसनीय श्रंखला वो भी आपसे बस एक क्लिक की दूरी पर-
यह हमारा एक कदम है स्वदेषी की ओर
Artisan Glory अहसास अपनेपन का ।

1 reply

Trackbacks & Pingbacks

  1. […] Artisan Glory अहसास अपनेपन का । […]

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *